7 Explanation On Why PhD Full Form in Hindi is Important

हम सभी ने कभी न कभी PhD के बारे मे सुना जरूर हैं, मगर क्या सभी लोग इसके बारे मे जानते हैं? बहुत लोगों को इसके बारे मे पता नहीं होता, इसलिए आज मैंने ये लेख उन सभी लोगों के लिए लिखा हैं। इस लेख को पढ़ने के बाद आपको PhD के बारे मे पूरी जानकारी मिल जाएगी। 

अगर आपको PhD के ऊपर सभी प्रकार की जानकारी चाहिए तो आपको इस लेख को पूरा पढ़ना चाहिए। 

PhD का फुल फॉर्म क्या होता हैं?

सबसे पहले इसके फुल फॉर्म के बारे मे जान लेते हैं, PhD का फुल फॉर्म  Doctor of Philosophy होता हैं। जिसे हम हिन्दी मे विद्यावाचस्पति की उपाधि कहते हैं। 

PhD क्या होता हैं?

ये एक उच्च डिग्री होती है। ये डिग्री लेने के बाद आप अपने नाम के आगे Dr. लगा सकते हैं। इसे हम डॉक्टर की डिग्री भी हम कह सकते हैं। अगर आप किसी भी कॉलेज या यूनिवर्सिटी मे professor बनना चाहते हैं तो आपके पास ये डिग्री होनी आवश्यक हैं । 

बहुत सारे लोग इसे करने के बाद researcher और एनालिसिस भी बनते हैं। इसको करने के बाद आपको किसी एक विषय का पूरा ज्ञान हो जाता हैं। जिस विषय मे PhD किया जाता हैं उस व्यक्ति को उस विषय का पूरा ज्ञान हो जाता हैं, या होना चाहिए। 

PhD किसी भी विषय की टॉपिक पे किया जा सकता हैं। 

अन्य उपयोगी फुल फॉर्म विषय हिंदी में :-

  1. PIN Full Form
  2. UPI Full Form

Ph.D कितने साल की होती है?

भारत मे PhD करने की अवधि 3-5 साल की होती हैं। मगर कभी कभी इसे करने मे ज्यादा समय लग जाता हैं, PhD का समय उनके रिसर्च और गाइड पर भी करता हैं। जापान, फ्रांस और यूके में phd करने में 3 साल लगते है।

PhD Full Form
PhD Full Form

Ph.D कैसे करें?

PhD करने मे बहुत ही मेहनत और समय लगता है, इसके लिए बहुत सारी अलग अलग चीजों का ध्यान रखना होता हैं, इसके लिए आपके पास जो योग्यता चाहिए वो सभी नीचे दिए हैं। 

सिक्षा 
  1. आपको graduate होना जरूरी हैं।
  2. आपका post graduation मे 60 % अंक का होना जरूरी हैं, आरक्षित वर्ग के लिए  55% निर्धारित किया गया हैं। 
  3. National Eligibility Test जिसे हम NET के नाम से जानते हैं उसे पास करना जरूरी हैं। 
  4. आपकी उम्र 55 साल से कम होनी चाहिए। 

अगर आप सोच रहे हैं की अपने science से graduation किया हैं और आप arts के topic पे PhD करना चाहते हैं तो भी आप ये कर सकते हैं। आपके पास बास master degree होनी चाहिए। 

PhD करने के फायदे क्या हैं?

अगर आपको लगता हैं की PhD के ज्यादा फायदे नहीं हैं तो आप गलत सोच रहे हैं। इसको करने के जो फाइडे हैं वो सभी नीचे दिए गए हैं। 

  • PhD कारण एक के बाद आपके नाम के आगे Dr. जुड़ जाता हैं। 
  • आप किसी भी कॉलेज या यूनिवर्सिटी मे professor बन सकते हैं। 
  • PhD करने के बाद आप उस विषय मे expert बन जाते हैं। 
  • PhD करने के बाद किसी भी छेत्र मे Research या एनालिसिस कर सकते हैं। 
  • सामाजिक सम्मान भी प्राप्त होता हैं। 
  • PhD करे हुए व्यक्ति को हम  Creator of Information कहते हैं। 
  • PhD करने के बाद किसी भी post के लिए job apply कर सकते हैं। 

PhD करने के लिए best university 

  • Amity University, Noida
  • Jawaharlal Nehru University
  • Chennai Mathematical Institute
  • Indian Statistical Institute (ISI)
  • KCG College of Technology, Chennai
  • Tata Institute of Fundamental Research
  • Indian Institute of Science, Bangalore
  • Jamia Milia Islamia University, New Delhi
  • Institute of Genetic Engineering Badu – Kolkata
  • Institute of Technical and Professional Studies, Kolkata

Admission के लिए जरूरी Documents

  • Aadhaar card – किसी भी जगह आज के समय आधार कार्ड का प्रयोग होता हैं, वही आज के समय मे admission के वक्त भी आधार कार्ड की आवश्यकता पड़ती हैं। 
  • Intermediate certificate – आपको PhD मे प्रवेश के समय Intermediate certificate भी आपको जमा करना होता हैं। 
  • Graduation certificate – आपको Graduation certificate भी लेकर जाना होता हैं, इसके बिना आप PhD नहीं कर सकते। 
  • Postgraduate certificate – Graduation certificate के साथ आपके पास Postgraduate certificate का certificate भी होना चाहिए। 

Phd में लागत

इसके fees की बात करे तो आप जैसे college से अपनी PhD करते हैं वैसी लागत लगती हैं। अगर आपका PhD सरकारी coleege से हो रहा हैं तो आपका fees कम होगा, वही अगर आप प्राइवेट से करेंगे तो थोड़ा ज्यादा लगेगा। 

PHD करने के बाद रोजगार के क्षेत्र

  • Law Firms
  • Consultancy
  • Publishing Houses
  • Research Institutes
  • Philosophical Journals
  • Educational Institutes
  • Human Services Industry
  • Newspapers and Magazines

PhD के विषय 

PhD Courses in Science

PhD in Applied Sciences

PhD in Chemistry

PhD in Basic and Applied Sciences

PhD in Clinical Research

PhD in Mathematical and Computational Sciences

PhD in Environmental Science and Engineering

PhD in Mathematics

PhD in Bioscience

PhD Biotechnology

PhD in Zoology

PhD in Science

PhD Zoology

PhD in Bioinformatics

PhD in Physics

PhD in Applied Chemistry and Polymer Technology

PhD Courses in Humanities and Social Sciences

PhD in Psychology

PhD in Humanities

PhD in Public and Economic Policy

PhD in English

PhD in Physiology

PhD in Humanities and Life Sciences

PhD Geography

PhD in Arts

PhD in Economics

PhD in Public Policy

PhD in Humanities and Social Sciences

PhD in Social Sciences

PhD in International Relations and Politics

PhD in Literature

PhD in Social Work

PhD Courses in Engineering

PhD in Engineering

PhD in Computer Science Engineering

PhD in Electronics and Communication Engineering

PhD in Production Engineering

PhD in Chemical Engineering

PhD in Marine Biotechnology

PhD in Information Technology

PhD Program in Quantitative Techniques

PhD in Civil Engineering

PhD in Aeronautical and Automobile Engineering

PhD in Engineering and Technology

PhD in Electronics and Communication Engineering

PhD in Mechanical Engineering

PhD in Ceramic Engineering

PhD in Genetic Engineering

PhD Courses in Commerce

PhD in Commerce

PhD in Statistics

PhD in Commerce and Management

PhD in Accountancy

PhD in Banking and Finance

PhD in Business Economics

PhD in Accounting and Financial Management

PhD in Commerce Management

PhD Courses in Business and Management

PhD in Logistics and Supply Chain Management

PhD in Marketing

PhD in Management

PhD in Human Resource Management

PhD in Business Administration

PhD in Aviation Management

PhD in Operation Management

PhD in Renewable Energy

PhD in Disaster Management

PhD in Organisation Behaviour

PhD Courses in Law

PhD in Law

PhD in Legal Studies

Doctor of Laws

PhD in Law and Governance

PhD in Constitutional Law

Medical PhD Courses

Doctorate of Medicine (MD) in Biochemistry

Doctorate of Medicine in Forensic Medicine

Doctorate of Medicine in Cardiology

PhD in Physiotherapy

PhD in Physiology

PhD in Pathology

PhD in Medicine

Doctorate of Medicine in Homoeopathy

PhD in Psychiatry

PhD in Hospital Administration

PhD in Radiology

PhD in Neurosciences

PhD in Medical Physics

PhD in Immunology

PhD in Paramedical Sciences

PhD से जुड़े कुछ सवाल।

FAQ – PHD Full Form

Q. 1.PhD करने मे कितना समय लगता हैं?

Ans. PhD करने मे 3-5 साल लगता हैं।

Q. 2.PhD करने मे कितना खर्च होता हैं?

Ans. PhD करने मे लगभग 1.5 लख से 3 लाख लगते हैं।

दोस्तों ये थी कुछ जानकारी PhD से जुड़े हुए, आशा हैं आपको समझ आया होगा, किसी भी समस्या पर आप comment कर सकते हैं। अगर आपको लगता हैं इस पोस्ट से आपके दोस्तों या रिश्तेदारों को फायदा हो सकता हैं तो इसे share जरूर करे। जय हिन्द। 

अन्य उपयोगी फुल फॉर्म विषय हिंदी में :-

  1. NCB Full Form
  2. Full Form FIFA

Leave a Reply